Rajiv Dixit - होम्योपैथिक की इस दवाई से कीजिए पथरी को ख़त्म, दिन में 3-4 बार लेना है

Author channel Rajiv Dixit Ji Official   1 год. назад
909,756 views

8,630 Like   798 Dislike

5 Best Homeopathy Medicines for Renal Stone / Calculi ( गुर्दे की पथरी )

5 BEST HOMEOPATHY MEDICINES ARE 1. BENZOIC ACID 30 2. LYCOPODIUM 30 3 SARSAPARILLA 30 4. LITHIUM CARB 30 5. BERBERIS VULGARIS 30/Q एक बार में एक मेडिसिन अपने लक्षणों के हिसाब ले। सारी मेडिसिन्स को मिक्स करके न लें। मेडिसिन लेनी कैसे है उसके लिए पूरा वीडियो देखें। =========≠============================================================== इस नम्बर पर कॉल न करे। ये नंबर सिर्फ व्हाट्सएप्प के लिए है। WHATSAPP NO. 9654777124 T&c APPLY * जो भी मरीज़ मुझसे व्यक्तिगत तोह पर इलाज कराना चाहते है सिर्फ कही मुझसे whatsapp के द्वारा कॉन्टैक्ट करे। ( उसके लिए आपको मेरी फीस चुकानी पड़ेगी) *YOU CAN CONTACT ME ON WHATSAPP BUT ONLY FOR PERSONAL CONSULTATION (WHICH IS CHARGEABLE) AND MY CHARGES ARE AS FOLLOWS 1. 7 DAYS CONSULTATION == INR 250 2. 30 DAYS CONSULTATION== INR 1000 3. 30 DAYS CONSULTATION WITH MEDICINE == INR 1300 ( BY POST IN INDIA ONLY) 4. 30 DAYS CONSULTATION WITH MEDICINES==INR 4200 ( BY POST OUTSIDE INDIA) ================================================== MODE OF PAYMENTS 1.PAYTM (9990912362) 2.BHIM APP 3.PHONE PE APP 4.TEZ APP UPI PAYMENTS ADDRESS IS 9990912362 OR 9990912362@UPI DO NOT CALL ON THIS NUMBER. THIS NUMBER IS ONLY FOR WHATSAPP AND SMS. My Facebook Page https://www.facebook.com/curehomeopat... follow me on twitter @varunkanwadia You Can Search me on Google Dr. Varun Kanwadia or CURE HOMEOPATHIC CLINIC Plot No.88, Pocket 12, Opposite NDPL OFFICE, Sector 20 Rohini New Delhi. India

मोटापा घटाये तेजी से 7 दिनों में 10 किलो वजन कम करे इन आसान ...

मोटापा घटाये तेजी से 7 दिनों में 10 किलो वजन कम करे इन आसान नियमो से || Shri Rajiv dixit ji ||

When Rajiv Dixit was Arrested and put in Jail of Kiran Bedi

Install Rajiv Dixit Android App Click Here ► http://goo.gl/MvVWgj Connect with us:- Like us on Facebook ► http://goo.gl/2gF9R8 Join Our Facebook Group ► https://goo.gl/qXmijP Subscribe our Youtube channel ► http://goo.gl/V8XoZg Follow us on Twitter ► http://goo.gl/zsHP6T Also visit our website ► https://www.RajivDixitJi.com Google Play Android App ► http://goo.gl/MvVWgj Rajiv Dixit was an Indian Orator. He started social movements in order to spread awareness on topics of Indian national interest through the Swadeshi Movement, Azadi Bachao Andolan and various other works. He served as the National Secretary of Bharat Swabhiman Andolan he was also founder of Bharat Swabhimaan Andolan. He was a strong believer and preacher of Bharatiyata. He had also worked for spreading awareness about Indian history, issues in the Indian constitution and Indian economic policies. He was also Indian scientist and very few people know that he has worked with APJ Abdul Kalam. Being a Scientist he could have enjoyed his life very well in USA or UK but he sacrificed his life to bring awareness among the People against Black money, Loot of Multinational Companies, Corruptions, Benefits of Indian made items and Ayurveda. He was struggling past 20 years against multinational companies and wants to protect Indian freedom. राजीव दीक्षित एक भारतीय वक्ता थे। उन्होंने स्वदेशी आंदोलन, आजादी बचाओ आंदोलन और विभिन्न अन्य कार्यों के माध्यम से राष्ट्रीय हित के विषयों पर जागरूकता फैलाने के लिए सामाजिक आंदोलनों शुरू किये थे। वो भारत स्वाभिमान आन्दोलन के संस्थापक और राष्ट्रीय सचिव भी रह चुके हैं। राजीव दीक्षित भारतीयता के उपदेशक थे। उन्होंने भारतीय इतिहास, संविधान में मुद्दों और आर्थिक नीतियों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए काम किया था। राजीव दीक्षित एक भारतीय वैज्ञानिक थे और बहुत कम लोगों को पता है कि वह एपीजे अब्दुल कलाम के साथ भी काम कर चुके है। एक वैज्ञानिक होने के नाते अगर वह चाहते तो अमेरिका या ब्रिटेन में बहुत अच्छी तरह से अपने जीवन का आनंद ले सकते थे लेकिन उन्होने अपने जीवन का बलिदान काले धन, बहुराष्ट्रीय कंपनियों की लूट, भ्रष्टाचार, भारतीय वस्तुओं का लाभ और आयुर्वेद के लिए जागरूकता लाने के लिए दिया। उन्होने बहुराष्ट्रीय कंपनियों के खिलाफ संघर्ष और भारतीय स्वतंत्रता की रक्षा करने में अपनी ज़िन्दगी के 20 साल लगा दिए।

सिर्फ 3 सुबह ये पिलो ओर पथरी को हमेशा के लिए बाय बाय कहो | Pathri ...

#pathrikailaj #ston #Homeremedies

मात्रा 3 दिन खाए इसे डायबिटीज जड़ से ख़त्म

मात्रा 3 दिन खाए इसे डायबिटीज जड़ से ख़त्म

Install Rajiv Dixit Android App Click Here ► http://goo.gl/MvVWgj

Connect with us:-
Like us on Facebook ► http://goo.gl/2gF9R8
Join Our Facebook Group ► https://goo.gl/qXmijP
Subscribe our Youtube channel ► http://goo.gl/V8XoZg
Follow us on Twitter ► http://goo.gl/zsHP6T
Also visit our website ► https://www.RajivDixitJi.com
Google Play Android App ► http://goo.gl/MvVWgj

Rajiv Dixit was an Indian Orator. He started social movements in order to spread awareness on topics of Indian national interest through the Swadeshi Movement, Azadi Bachao Andolan and various other works. He served as the National Secretary of Bharat Swabhiman Andolan he was also founder of Bharat Swabhimaan Andolan. He was a strong believer and preacher of Bharatiyata. He had also worked for spreading awareness about Indian history, issues in the Indian constitution and Indian economic policies. He was also Indian scientist and very few people know that he has worked with APJ Abdul Kalam. Being a Scientist he could have enjoyed his life very well in USA or UK but he sacrificed his life to bring awareness among the People against Black money, Loot of Multinational Companies, Corruptions, Benefits of Indian made items and Ayurveda. He was struggling past 20 years against multinational companies and wants to protect Indian freedom.

राजीव दीक्षित एक भारतीय वक्ता थे। उन्होंने स्वदेशी आंदोलन, आजादी बचाओ आंदोलन और विभिन्न अन्य कार्यों के माध्यम से राष्ट्रीय हित के विषयों पर जागरूकता फैलाने के लिए सामाजिक आंदोलनों शुरू किये थे। वो भारत स्वाभिमान आन्दोलन के संस्थापक और राष्ट्रीय सचिव भी रह चुके हैं। राजीव दीक्षित भारतीयता के उपदेशक थे। उन्होंने भारतीय इतिहास, संविधान में मुद्दों और आर्थिक नीतियों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए काम किया था। राजीव दीक्षित एक भारतीय वैज्ञानिक थे और बहुत कम लोगों को पता है कि वह एपीजे अब्दुल कलाम के साथ भी काम कर चुके है। एक वैज्ञानिक होने के नाते अगर वह चाहते तो अमेरिका या ब्रिटेन में बहुत अच्छी तरह से अपने जीवन का आनंद ले सकते थे लेकिन उन्होने अपने जीवन का बलिदान काले धन, बहुराष्ट्रीय कंपनियों की लूट, भ्रष्टाचार, भारतीय वस्तुओं का लाभ और आयुर्वेद के लिए जागरूकता लाने के लिए दिया। उन्होने बहुराष्ट्रीय कंपनियों के खिलाफ संघर्ष और भारतीय स्वतंत्रता की रक्षा करने में अपनी ज़िन्दगी के 20 साल लगा दिए।

Comments for video:

Similar video